CCC Study Material in Hindi Insurance

CCC Study Material in Hindi Insurance

CCC Study Material in Hindi Insurance : NIELIT (DOEACC) CCC Study Material in Hindi PDF Download की इस पोस्ट में आज हम आपको इंश्योरेंश (Insurance) CCC Study Material in Hindi में दे रहे है जो CCC Computer Online Exam के लिए बहुत ही महत्त्वपूर्ण है | सभी अभ्यर्थियो को आज इस पोस्ट को अच्छे तरीके से पढ़ना है | आने वाली अगली पोस्ट में हम आपको CCC Model Question Answer Paper in Hindi में देंगे जिसे आपको Solved करके देखना होगा |

CCC Study Material in Hindi Insurance

CCC Study Material in Hindi Insurance

8.9 इंश्योरेंश (Insurance) (CCC Study Material)

इंश्योरेंश एक प्रकार का एक एग्रीमेंट है जिसमे कोई व्यक्ति कम्पनी को रेगुलर पेमेंट देते है इसके बदले कम्पनी तथा किया गया अमाउंट किसी प्रकार के डैमेज, लोस या डेथ पर वापस करता है |

8.9.1 इंश्योरेन्श की आवश्यकता (Neccessity of Insurance)

इंश्योरेंश सम्बन्धित पार्टी को लोस और आकस्मिक आपदा से बचाती है, इसलिए हम कह सकते है की यह सोशल डिवाइस है जो लाइफ या प्रोपर्टी के लोस को कम करता है |

8.9.2  लाइफ इन्शयोरेंस् और नॉन-लाइफ इन्श्योरेंस्  (Life Insurance and Non-life Insurance) (CCC Study Material in Hindi)

लाइफ इन्श्योरेंस्: लाइफ इन्श्योरेंस् पोलिसी होल्डर तथा इन्श्योरर के बीच एक प्रकार का कॉन्ट्रैक है जिसमें इन्श्योरर एक अमाउंट पे करता है, प्रीमियम के बदले, जब इन्शयर्ड पर्सन की मौत हो जाती है।  (चित्र 8.13)।

इसमें पालिसी होल्डर रेगुलर बेसिस पर या एक अनिवार्य रकम प्रीमियम के रूप में पे करता है।

बुनिओन के अनुसार, लाइफ इन्श्योरेंस् के कॉन्ट्रैक्ट में एक पार्टी किसी व्यक्ति के जीवन में घटित होने वाले किसी पर्टिकुलर इवेंट पर उसके द्वारा पर्टिकुलर टाइम पीरियड में धीरे धीरे दी गयी कुल राशि को तुरंत वापस करता है।

लाइफ इन्श्योरेंस का उददेश्य फाइनेंशियल सिक्यूरिटी देना है।

चित्र 8.13 :  इन्श्योरेन्स के प्रकार

CCC Study Material

CCC Study Material

लाइफ इन्श्योरेंस् निम्नलिखित रिस्क को कवर करता हैः

  • डेथ
  • रिटायरमेंट के बाद इन्कम बिमारी

नॉन-लाइफ इन्श्योरेंसः यह एक इन्श्योरेंस् पालिसी होती है जो लॉस अथवा डैमेज (जो लाइफ इन्श्योरेंस् में कवर नहीं होते हैं) के बदले में आपको प्रोटेक्ट करता है। यह आप को और आपकी फैमिली को आकस्मिक खतरों के रिस्क को कम करने में आपकी मदद करती है (चित्र 8.13 देखें)

नॉन-लाइफ इन्श्योरेंस् पालिसी प्लान का कवरेज पीरियड एक साल होता है, तथा इसका प्रीमियम नॉर्मली वन-टाइम बेसिस का होता है।

नॉन-लाइफ इन्श्योरेंस् निम्नलिखित रिस्क को कवर करता हैः

  • प्रॉपर्टी लॉस, जैसे कार का चोरी होना या घर में आग लगना।
  • किसी अन्य के द्वारा आपको क्षति पहुँचाये जाना।
  • आकस्मिक मौत या जख्मी होना।

8.10  विभिन्न स्कीम्स्  (Various Schemes) (DOEACC CCC Study Material)

मिनिस्ट्री आफ गवर्मेट ऑफ इंडिया समय-समय पर विभिन्न प्रकार की  स्कीम ले कर आती है जिसका मकसद गरीब जनता की मदद करना होता है। ये स्कीम्स् सेन्ट्रल के अनुसार या स्टेट के अनुसार अथवा सेन्ट्रल व स्टेट के जॉइंट कोलैबारेशन से लाई जाती हैं। इस सेक्शन में है इन्हीं स्कीम्स् के बारे में पढेंगे।

कोलैबारेशन से लाई जाती हैं। इस सेक्शन में हम इन्हीं सक्म्स् के बारे में पढेंगे।

8.10.1  प्रधानमंत्री जन-धन योजना  (PRADHAN MANTRI Jan DHAN YOJANA) (DOEACC CCC Study Material in Hindi)

प्रधान मंत्री जन-धन योजना एक राष्ट्रीय स्तर की योजना है, यह स्कीम अगस्त 2014 में प्रधानमंत्री के द्वारा लांच की गई थी।

इस स्कीम के अंतर्गत वर सभी लोग जिनका बैंक अकाउन्ट नहीं है उन्हें शामिल किया है। यह स्कीम गवर्मेट की अन्य स्कीम के द्वारा मिलने वाली फाइंनेंशियल बेनिफिट को सभी तक पहुँचाना सुनिश्चित करती है।

इस फाइनेंशियल सर्विस के अंतर्गत बैंकिंग/सेविंग व डिपाजिट अकाउन्ट, रेमिटंस, क्रेडिट, इन्श्योरेंस, पेशन आती हैं जो किसी भी भारतीय नागरिक के लिये अफोर्डेवल मोड में आसानी से उपलब्ध हैं।

  1. जन-धन योजना के अंतर्गत कोई भी जो भीरतीय नागरिक है और जिसकी उम्र 10 साल से अधिक हो और जिसके पास अपना बैंक अकाउन्ट न हो वह अपना अकाउन्ट जीरो बैलेंस पर खोल सकता है।
  2. बैंक अकाउन्ट किसी भी बैंक की ब्रांच में अथवा इस स्कीम के लिए अनुबंधित बिजनेस करेस्पोडिंग आउटलेट (बैंक मत्र) में अपना खाता खोल सकते हैं।
  3. यह स्कीम अकाउन्ट होल्डर के लिए एक लाख तक का एक्सीडेंटल इन्श्योरेन्स भी प्रोवाइड करती है।
  4. जन-धन योजना के अंतर्गत अकाउंन्ट होल्डर को RUPAY डेबिट कार्ड दिया जाता है जो किसी भी बैंक के ए.टी.एम से रूपये निकालने, आउटलेट में रिटेल के लिये पेमेन्ट, आदि में प्रयोग किया जा सकता है।

पी.एम.जे.डी.वाई. स्कीम के बेनेफिट्स   (Special Beneits under PMJDY Scheme)

  • डिपाजिट पर इन्ट्रस्ट
  • RUPAY डेबिट कार्ड जिसके साथ एक लाख तक का एक्सीडेंटल इन्श्योरेंस् कवर स्वतः ही मिलता है।
  • कोई मिनिमम बैमेंस की सीमा नहीं।
  • रूपय 5000/- तक की ओवरड्राफ्ट फैसिलिटी।
  • रूपये 30,000/- का लाइफ इन्श्योरेंस् कवर।
  • पूरे भारत में कहीं भी मनी ट्रान्सफर की सुवीधा ।
  • पेंशन तथा इन्श्योरेंस् प्रोडेक्ट।

8.10.2   सोशल सिक्योरिटी स्कीम्स्  (Social Security Schemes) (NIELIT CCC Study Material)

मानव अधिकार के यूनिवर्सल डेक्लेरैशन में दिए गए आर्टिकल 22 के अनुसार, सोशल स्कियोरिटी को इस प्रकार से परिभाषित कर सकते हैं प्रत्येक व्यकति समाज का एक सदस्य है जिसके पास सोशल सिक्योरिटी का अधिकार होता है, वास्तिविकता का बोध होना, नेशनल लेवल की मेहनत व इंटरनेशनल मदद, ऑर्गेनाइजेशन का साथ स्टेट के मौजूदा रिसोर्सेस के साथ किसी व्यक्ति की गरिमा के लिए जरूरी सोशल और कल्चर अधिकार, और उसके व्यक्तित्व का सवतन्त्रत विकास।

सरल शब्दो में, इसका अर्थ है कि वह समाज जसमें कोई व्यक्ति रहता है, अधिकतर उन फीचर्स जैसे संस्क्रति, कार्य, समाज कल्याण को बनाने तथा उन्नत करने में उस व्यक्ति की सहायता करनी चाहिए।

सोशल सिक्योरिटी की व्याख्या निम्नलिखित शब्दों में की जा सकती हैः

  • सोशल इन्श्योरेंस, इसमें लोग इन्श्योरेंस प्रोग्राम के लिए उनके सहयोग से लाभ उठाते हैं। इसमें जैसे, बेरोजगारी के समय आर्थिक सहायता, स्वास्थ्य सुविधा जैसी सुविधाएं भी शामिलहैं।
  • सर्विसेस्, जो सोशल सिक्योरिटी प्रोविजन के लिए गवर्नमेंट प्रोवाइड करती है। इसके अंतर्गत सर्विसेस आती हैः मेडिकल केयर, बेरोजगारी के दौरान फाइनेंशियल सपोर्ट।
  • बेसिक सिक्योरिटी, यह एक इन्श्योरेंस प्रोग्राम है जिसमें एलिजिबिलिटी कोई इशू नहीं हैं।

कुछ सोशल सिक्योरिटी स्कीम्स निम्नलिखित हैः 

8.10.2.1   प्रधानमेंत्री सुरक्षा बीमा योजना  (PMSBY)  (PRADHAN MANTRI SURAKSHA BIMA YOJANA (PMSBY) (NIELIT CCC Study Material in Hindi)

 यह स्कीम गवर्मेट द्वारा गरीब जनता जिन्हें कंपनी द्वारा इन्श्योरेंस नहीं दिया गया तथा वे डेथ या डिसेबिलिटी के लिए कवर नहीं हैं, उन नागरिकों के लिए प्रारम्भ की गई है।

प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना (PMSBY) उन सभी नागरिकों के लिए है जिनकी उम्र 18 साल से लेकर 70 की हकै और उनका बैंक अकाउन्ट नहीं है।

इसका एनुअल प्रीमियम रूपये 12 (टैक्स अतिरिक्त) है जोकि लगभग प्रीमियम का 14% है। यह अमाउन्ट एकाउन्ट से सीधे कट जाता है। आकस्मिक मौत या पूरी तरह से अपंग होने के केस में नॉमिनी को रूपये 2 लाख का पेमेन्ट दिया जायेगा और पार्शियल डिसेबिलिटी के केस में रूपये 1 लाख का पेमेन्ट दिया जायेगा।

यह स्कीम प्रधानमंत्री जन-धन योजन के अंतर्गत खोले गये बैंक अकाउन्ट से जुड़ जाति है। यह अकाउन्ट जीरो बैलेंस के अंतर्गत खोला जाता है। यह स्कीम एक साल के लिय वैलिड होती है तथा हर साल इसे रीन्यू करना होगा।

योग्यताः कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 से 70 की बीच हो और उसका एक सेविंग बैंक अकाउन्ट जिससे आधार कार्ड लिंक्ड होना चाहिए।

  • व्यक्ति को एक साधारण सा फॉर्म भरना होगा जिसमें उसे नॉमिनी और उसका आधार कार्ड नंबर डालना होगा। फॉर्म को हर साल के 1 जून से पहले जमा करन होगा।
  • ऐसा करने से अकाउन्ट आसानी से एक्टिव हो जायेगा।
  • प्रीमियम अकाउन्ट से ऑटो डेबिट होते रहेंगे।

PMSBY को कौन इम्प्लीमेंट करता है सभी गवर्मेट स्पॉन्सड इन्श्योरेनस कम्पनीज इस स्कीम को चला रही है। अन्य इन्श्योरेंस् कंपनी बैंक के साथ साइ-अप करके इस सर्विस को दे रही है।

8.10.2.2 प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना (PMJJBY)  (Pradhan Mantri Jeevan Jyoti Bima Yojana (PMJJBY) (CCC Notes)

PMJJBY उन सभी नागरिकों के लिये है जिनकी उम्र 18 साले से लेकर 50 साल की है और उनका कोई बैंक अकाउन्ट है। इसका एनुअल प्रीमियम रूपये 330/-हैं, इसमें सर्विस टेक्स सम्मिलित नही है, यह सर्विस टेक्स अकाउन्ट प्रीमियम से 14% ज्यादा होता है। यह अमाउन्ट अकाउन्ट से सीधे डेबिट हो जाता है। किसी भी कारण से आकस्मिक मौत हो जाने पर, नॉमिनी को रूपये 2 लाख का पेमेनट दिया जाता है।

यह स्कीम प्रधानमंत्री जन-धन  योजन के अंतर्गत खोले गये बैंक अकाउन्ट से जोड़ी जा सकती है। इन अकाउन्ट में प्रारम्भ में जीरो बैलेंस होता है।

योग्यताः कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 साल से 50 साल के बीच है और उसका कोई सेविंग बैंक अकाउन्ट है जिसे प्रीमीयम ऑटो डेबिट किया जा सके।

प्रीमियमः एक मेम्बर के लिये रूपये 330/-का एनुअल प्रीमियम होता है, जो मेम्बर के सेविंग बैंक अकाउन्ट से ऑटो डेबिट होता है।

8.10.2.3 अटल पेंशन योजना (APY) (Atal Pension YOJANA (APY) (CCC Notes in Hindi)

अटल पेशन योजना एक गवर्मेट बैक्ड पेशन स्कीम है जिसे अनऑर्गनिज्ड सेक्टर को टारगेट करके लॉन्च किया गया है। यह स्कीम प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी के द्वारा लॉन्च की  गयी है।

इस स्कीम में सभी के कॉन्टनब्यूशन को पेंशन फण्ड बना दिया जाता है। सेंट्रल गवर्मेट भी सब्सक्राइबर  अकाउन्ट के लिए टोटल 50% की भागीदारी देती है, यह 5 सालों के लिए होता है।

इस स्कीम में ज्वाइन करने की उम्र 18 से 40 साल होनी चाहिए।

आधार कार्ड इसके आइडेंटिफिकेशन के लिये प्राइमरी और जरूरी डॉक्यूमेंट है। सब्सक्राइबर रूपये 1000 से लेकर रूपये 5000 तक का मंथली पेंशन प्लान ले सकते हैं और यह अमाउन्ट मंथली बेसिस पर बैंक अकाउन्ट से ऑटोमैटिकली डिडक्ट होती है।

8.10.2.4  प्रधानमंत्री मुद्रा योजना  (PMMY)    (PRADHAN MANTRI YOJANA (PMMY))

माइक्रो यूनिट डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी लिमिटेड (MUDRA) एक नया इंस्टीटयूशन है जिसे गवर्मेट आफ इंडिय ने नॉन-कॉर्पेरेट, नॉन फार्म सेक्टर, शॉप कीपर, फ्रूट्स/वेजिटेबल वेंडर्स, ट्रक ऑपरेटर्स, सर्विस यूनिट्स, रिपेयर शॉप्स, मशीन ऑपरेटर जिनकी आय 1 लाख से कम है उन्हें फण्ड उपलब्ध करने के ले बनाई गयी है।

इस स्कीम में, MUDRA ने तीन प्रकार के प्रोडक्ट्स बनाये हैं जो निम्नलिखित लोन अमाउन्ट को कवर करते हैः

  • शिशुः इसके अंतर्गत रूपये 50000/- तक का लोन दिया जाता है।
  • किशोरः इसके अंतर्गत रूपये 50000/- से ज्यादा और रूपये 5 लाख से कम का लोन दिया जाता है।
  • तरूणः इसके अंतर्गत रूपये 50000/- से ज्यादा और रूपये 10 लाख से कम का लोन दिया जाता है।

बैंक ब्रान्चेस् कस्टमर की जरूरतों के अनुसार मुद्रा स्कीम में लोन उपलब्ध कराती है और इस स्कीम में बांटा गया लोन, लैटरल फ्री लोन होता है।

मुद्र लोन, व्हीकल लोन (टू व्हीलर या फार व्हीलर), बिजनेस इन्स्टालमेंट लोन (वर्किग कैपिटल रिक्वायरमेंट के लिये) और बिजनेस लोन्स् ग्रुप लोन्स् (वर्किग कैपिटल लोन) के लिए लिया जा सकता है।

8.10.3  नेशनल पेशन स्कीम (NPS))  (National Pension Scheme (NPS)) (CCC Notes in Hindi)

यह एक डिफाइन कॉन्ट्रिब्यूशन सिस्टम है जो गवर्मेट ऑफ इंडिया द्वारा आपरेट किया जाता है। यह स्कीम इन्वेस्टमेंट करने के लिये एक विस्त्त ऑप्शन एम्प्लोयी को उपलब्ध करता है जिकि पेंशन फण्ड को इन्वेस्ट करने की स्वतंत्रता देता है, इसमें व्यक्ति रिटायरमेंट के पहले ही पेड मनी को विथड्रॉ कर  सकता है औऱ भारत सरकार की कुल पेंशन लायबिलिटी को कम करता है।

इस स्कीम में दो टायर्स होते हैः

  • टायर 1: सभी सिटीजन्सः के लिए बेसिक रिटायरमेंट पेंशन अकाउन्ट जिसमें रिटायरमेंट के पहले फण्ड नहीं निकाल सकते हैं।
  • टायर 2: इसमें प्रोस्पेक्टिव पेमेन्ट सिस्टम (PPS) अकाउन्ट होता है जिसमें अपनी पेंशन का कुछ अमाउन्ट रिटायरमेंट से पहले निकाला जा सकता है।

पेशन स्कीम पेंशन का प्रबंधन भारत सरकार की तरफ से फण्ड रेगुलेटरी एण्ड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा किया जाता है।

एलिजिबिलिटः सभी भारतीय जिनकी उम्र 18 साल से लेकर 60 साल हो इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं।

8.10.4  पब्लिक प्रोविडेंट फण्ड (PPF) सकीम  (Public Provident Fund (PPF)  Scheme) (DOEACC CCC Notes) 

ये सेविंग-कम-टैक्स सेविंग इंस्टूमेंट है जो स्मॉल सेविंग को मोबलाइज करती है। यह एक तय रिटर्न के साथ इन्वेस्टमेंट की सुविधा देती है और इसके साथ टैक्स बेनिफिट भी देती है। यह केंद्र सरकार के द्वारा स्थापित की गई है।

व्यक्ति जो भारत का नागरिक है वह PPF अकाउन्ट खोलने के लिये एलिजिबल है। व्यक्ति को कम से कम रूपये 500, अकाउन्ट खुलवाने के लिए डिपाजिट करना होता है औऱ इस अकाउन्ट को मेन्टेन करने के लिए ज्यादा से ज्यादा रूपये 1.5 लाख एक साल में, डाल सकता है।

PPF अकाउन्ट के लिए मौजूदा इन्ट्रसट रेट 8.1% पर ईयर है और डयूरेशन 115 साल है जिसे अगले 5 सालों के लिय एक्सटेंड किया जा सकता है।

व्यक्ति PPF की मेचोरिटी परः

  • अपना पूरा धन निकाल सकता है।
  • PPF अकाउन्ट को बिना कंट्रीब्यूशन (बिना रूपया दिये) एक्सटेंड कर सकता है।
  • PPF अकाउन्ट को कंट्रीब्यूशन के साथ (अकाउन्ट में रूपया डाल कर एक्सटेंड कर सकता है।

8.11  आपके मोबाइल पर बैंक (Bank on Your Mobile) (NIELIT CCC Notes)

आपको मोबाइल पर बैंक का मतलब आप अपने बैंक द्वारा दी जाने वाली सर्विसेस् कभी भी कहीं भी अपने मोबाइल पर पा सकते हैं औऱ आप बड़ी आसानी से अपना अकाउन्ट देख सकते हैं, फण्ड ट्रान्सफर कर सकते हैं, बिल पे कर सकते हैं। यह आपको अपने बैंक  से जुडने का एक आसान रास्ता प्रदान करता है।

8.11.1 मोबाइल बैंकिंग (Mobile Banking)

यह सर्विस बैंक द्वारा प्रदान की जाती है जिसके माध्यम से कस्टमर अपने मोबाइल फोन द्वारा कहीं से भी ट्रांजेक्शन कर सकता है। (चित्र 8.14)

चित्र 8.14 :  मोबाइल बैंकिंग

CCC Study Material in Hindi PDF

CCC Study Material in Hindi PDF

8.11.2  मोबाइल वॉलेट (Mobile Wallet)

यह एक पेमेन्ट सर्विस होती है जो किसी फाइनेंशियल रेगुलेशन के अंतर्गत ऑपरेट होती है और मोबाइल फोन द्वारा कार्य करती है। कंजुमर विभिन्न प्रकार की सर्विस के ले पेमेन्ट कर सकता है। यह एक प्रकार से ट्रेडिशनल वॉलेट का ही डिजिटल वर्जन होता है, जो आपके क्रेडिट तथा डेबिट कार्ड की जानकारी को बैंक पेमेन्ट, स्टोर कूपन तथा लॉयल्टी प्रोग्राम के लिए डिजिटल फॉर्म में स्टोर रखता है।

मोबाइल वॉलेट का कार्य (Working of Mobile Wallet)

कस्टमर सभी स्टोर जानकारियों से संबंधित एप्प को अपने मोबाइल में अपने पिन/पासवर्ड द्वारा खोलकर एक्सेस् कर सकते हैं। इसके बाद ऐप संबंधित ट्रांजेक्शन को इनफार्मेशन ट्रान्सफर टेक्लोलॉजी जैसे नियर-फिल्ड कम्यूनिकेशन (एन.एफ.सी.) के द्वारा मोबाइल वॉलेट रेडी पेमेन्ट टर्मिनल से कनेक्ट करके परफॉर्म कर सकता है।

8.12  सारांश  (Summary)

यह अध्याय डिजिटल फाइनेंशियल सर्विस पर आधारित है। इसमें विभिन्न हालातों में जैसे इमसजेंसी, फ्यूचर नीड, और बड़े खर्च के लिए सेविंग क्यों जरूरी है यह बताया गया है इस अध्याय में, घर पर कैश रखने से होने वाली हानियों की भी चर्चा की गी है। इस अध्याय में बैंक धन की सेफ्टी, इन्ट्रस्ट पाने और लोन लेने के लिए क्यों जरूरी है वह भी बताया गया है। बाद में इस अध्याया में कुछ बैंकिंग प्रोडक्ट के बारें में डिस्कस किया गया है। हम लोगों ने चेक को भरना तथा डिमांड ड्राफ्ट को बनाना भी सीखा है। इसके अतिरिक्त अकाउन्ट खोलने में लगने वाले डॉक्यूमेंट के बारें में तथा के.वाई.सी के बारे में भी पढा है। इंटरनेंट बैंकिंग, ए.टी.एम., एन.ई.एफ.टी., आप ट.जी.एस. आदि के बारे में भी डिस्क्स किया गया हैं। इसके अलावा इन्श्योरेंस् के टाइप्स के बारे में भी डिस्कस किया गया है।

अध्याय के अंत में आपने गर्वनमेंट द्वारा इम्प्लीमेन्टेड विभिन्न स्कीम जैसे पी.एम.एस.बी.वाई. पी.एम.जे.जे.बी.वाई., ए.पी.वाई., पी.एम.एम.वाई., पी.पी एफ. और एन.पी.एस. के बारे में पढ़ा है। अपने मोबाइल पर किस प्रकार मसे मोबाइल बैंकिंग तथा मोबाइल वालेट जैसी सर्विसेस् का प्रयोग कर सकते हैं, यह बताया गया है।

स्टूडेंट के लिए चेक लिस्ट एप्रोप्रियेट पर टिक करें
1. क्या आपने कभी बैंक या बैंक मित्र को विजिट किया है? हाँ नहीं
2. क्या आपका कोई बैंक अकाउंट है? हाँ नहीं
3. क्या आपने कभी ए.टी.एम. यूज किया है? हाँ नहीं
4. क्या आपने कभी डेबिट कार्ड यूज किया है? हाँ नहीं
5. क्या आपने कभी पिन रिसीव किया है? हाँ नहीं
6. क्या आपका लाइफ इन्श्योरेन्स है? हाँ नहीं
7. क्या आपकी गाड़ी का इन्श्योरेंस है? हाँ नहीं
8. क्या आपने कभी लोन लिया है? हाँ नहीं

More CCC Study Material Question Paper With Answer True False in Hindi English

NIELIT DOEACC CCC Study Material Question Answer Paper Syllabus in Hindi

Doeacc CCC Introduction To Computer Study Material in Hindi

Follow On Facebook Page

Follow on Google Plus

Follow On Twitter

Posted in All, CCC, CCC Study Material, CCC Study Material in Hindi Tagged with: , , , , , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*